हिंदी और राष्ट्रीय एकता – सुभाषचन्द्र बोस का लिखा सुन्दर हिंदी आलेख

हिंदी और राष्ट्रीय एकता - सुभाषचन्द्र बोस का लिखा सुन्दर हिंदी आलेख यह काम बड़ा दूरदर्शितापूर्ण है और इसका परिणाम बहुत दूर आगे चल कर निकलेगा। प्रांतीय ईर्ष्या-द्वेश को दूर करने में जितनी सहायता हमें हिंदी-प्रचार से मिलेगी, उतनी दूसरी किसी चीज़ से नहीं मिल सकती। अपनी प्रांतीय भाषाओं की भरपूर उन्नति कीजिए। उसमें कोई …